कृषि पिटारा मुखिया समाचार

बागवानी से जुड़े लोगों को सरकार की इस पहल से होगा बहुत फायदा

नई दिल्ली: कुछ लोगों के लिए बागवानी एक शौक है तो कुछ के लिए एक व्यवसाय। इन दोनों ही प्रकार लोगों के लिए केंद्र सरकार की ओर से एक अच्छी खबर है। जी हाँ, इससे एक व्यवसाय के रूप में बागवानी से जुड़े लोगों को तो फायदा होगा ही, उनलोगों को भी काफी लाभ होगा, जो शौकिया तौर पर बागवानी कर रहे हैं। दरअसल, भारत सरकार ने एक राष्ट्रीय नर्सरी पोर्टल की शुरूआत की है। इसके जरिये अगर आप चाहें तो अपने शौक को व्यवसाय का रूप दे सकते हैं या फिर अगर आप अपने बागवानी के व्यवसाय को और फैलाना चाहते हैं तो यह पोर्टल आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित होने वाला है।

राष्‍ट्रीय बागवानी बोर्ड द्वारा विकसित इस राष्‍ट्रीय नर्सरी पोर्टल से खरीददारों को नर्सरियों तक पहुंचने में बहुत आसानी होगी। इसके जरिये वे क्‍वालिटी प्‍लांटिंग मटेरियल की उपलब्‍धता व कीमत आदि के बारे में जानकारी प्राप्‍त कर पाएंगे। इसी तरह, नर्सरियों को भी बाज़ार की मांग का पता चलेगा। खरीददारों का नर्सरियों से सीधा संपर्क होने से नर्सरियों को उनके प्‍लांटिंग मटेरियल का बेहतर दाम मिल पाएगा तथा बेहतर उपज तथा क्‍वालिटी बनाए रखने के लिए उचित सुझाव भी मिलेंगे। यह पोर्टल नर्सरियों व खरीदारों के बीच दूरी खत्‍म करने में मदद करेगा। साथ ही क्वालिटी प्‍लांटिंग मटेरियल की आसान उपलब्‍धता सुनिश्चित करने में भी सहयोग करेगा।

राष्ट्रीय नर्सरी पोर्टल की एक महत्वपूर्ण विशेषता यह है कि इसके माध्यम से नर्सरियों के संचालक पोर्टल पर लोगों को अपनी प्रोफाइल दिखा सकेंगे और बिक्री का ऑफर डाल सकेंगे। इसके बाद खरीदार सीधे ऑनलाइन पूछताछ कर अपनी जरूरत के अनुसार बिक्री ऑफर देख पाएंगे। इस पोर्टल पर सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र की फल-फूल एवं पौधो की नर्सरी का रजिस्ट्रेशन पूरी तरह से निःशुल्क है।

किसान मित्रों, बागवानी का क्षेत्र न केवल फसल विविधीकरण के लिए किसानों को कई प्रकार के विकल्प प्रदान करता है, बल्कि कृषि आधारित उद्योगों को बढ़ावा देने में भी सहायक है। इस क्षेत्र में रोजगार के काफी अवसर हैं। इस लिहाज से राष्ट्रीय नर्सरी पोर्टल इन अवसरों को एक नई दिशा देने का काम करेगा।

Related posts

Leave a Comment