कृषि पिटारा मुखिया समाचार

बाँस की खेती को सरकार ऐसे कर रही है प्रोत्साहित

नई दिल्ली: बीते कुछ वर्षों से बाँस की खेती किसानों के बीच काफी लोकप्रियता हासिल कर रही है। वजह है इससे होने वाली मोटी कमाई। केंद्र सरकार की एक पहल का फायदा अब काफी किसान उठाने लगे हैं। दरअसल, केंद्र सरकार ने बाँस काटने पर लगने वाल फॉरेस्ट एक्ट को अब हटा दिया है। जनवरी 2018 में केंद्र सरकार ने निजी जमीन पर लगे बाँस को पेड़ की कटेगरी से हटा कर किसानों को एक बहुत बड़ी राहत दी है। सरकार ने न केवल पुराने नियम को बदल दिया है, बल्कि बाँस की खेती को प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रीय बाँस मिशन भी शुरू किया है। इसके तहत् किसानों को बाँस की खेती करने पर प्रति पौधा 120 रुपये की सरकारी सहायता दी जा रही है।

अगर आप भी बाँस की खेती करना चाहते हैं तो आपके लिए यह काफी फायदे वाली साबित हो सकती है। क्योंकि बाँस की खेती आमतौर पर तीन से चार साल में तैयार हो जाती है। बाँस का पौधा सामान्यतः तीन-चार मीटर की दूरी पर लगाया जाता है। इसलिए इसके बीच की जगह में किसी और फसल की खेती करना भी संभव है। सरकारी नर्सरी से बाँस की पौध आपको मुफ्त में मिल जाएगी। वैसे तो बाँस की कई प्रजातियां मौजूद हैं लेकिन उनमें से 10 प्रजातियों का इस्तेमाल आजकल सबसे ज्यादा हो रहा है।

ऐसे में बाँस की खेती से होने वाले मुनाफे का एक अनुमान निकालें तो मोटे तौर पर यह इस प्रकार का हो सकता है। तीन साल में एक पौधे पर औसतन 240 रुपये का खर्च होता है। जिसमें से प्रति पौध 120 रुपये आपको सरकारी सहायता के रूप में मिलेंगे। पूर्वोतर भारत को अगर छोड़ दें तो देश के शेष राज्यों में इसकी खेती के लिए 50 प्रतिशत सरकार और 50 प्रतिशत किसान की हिस्सेदारी होगी। इसके बारे में विस्तृत जानकारी आपके अपने जिले में राष्ट्रीय बाँस मिशन के नोडल अधिकारी से मिल सकती है।

जहाँ तक सवाल है बाँस की खेती से होने वाली कमाई की तो आप अपनी जरूरत और प्रजाति के हिसाब से एक हेक्टेयर भूमि में 1500 से 2500 पौधे लगा सकते हैं। इन पौधों के बीच बची हुई खाली जगह में आप कोई और फसल भी उगा सकते हैं। एक अनुमान के मुताबिक यह कहा जा सकता है कि लगभग 4 साल बाद आप 3 से 3.5 लाख रुपये की कमाई आराम से कर सकेंगे। बाँस की खेती के साथ एक अच्छी बात ये है कि इसमें हर साल रिप्लांटेशन की जरूरत नहीं होती है। क्योंकि एक बार लगाने के बाद बाँस की पौध करीब 40 साल तक चलती है। अगर आप चाहें तो दूसरी फसलों के साथ खेत की मेड़ पर 4 गुणा 4 मीटर की दूरी पर बाँस भी लगा सकते हैं। इससे चौथे साल से आपको प्रति हेक्टेयर में करीब 30 हजार रुपये की कमाई होने लगेगी।

Related posts

Leave a Comment