छोटका पत्रकार पटना मुखिया समाचार

बिहार: नियोजित शिक्षकों ने वापस ली हड़ताल, इन मुद्दों पर बनी सहमति

पटना: अपनी विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल पर गए नियोजित शिक्षकों ने हड़ताल खत्म कर दी है। बिहार के पौने चार लाख नियोजित शिक्षक समान काम के बदले समान वेतन सहित कुछ अन्य मुद्दों को लेकर लगभग ढाई महीने से हड़ताल पर थे। हड़ताल खत्म करने की घोषणा पहले बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ द्वारा की गई जिसके बाद प्रारंभिक शिक्षक संघ ने भी हड़ताल वापस लेने का ऐलान कर दिया। शिक्षकों और सरकार के बीच इतने समय से जारी गतिरोध के खत्म होने के बाद ये शिक्षक अब काम पर लौटेंगे। शिक्षकों को हड़ताल के समय का वेतन मिलेगा। इसके अलावा उनके खिलाफ की गई निलंबन और एफआईआर जैसी कार्रवाई भी वापस ली जाएगी।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल पर सोमवार को माध्यमिक शिक्षक संघ के नेता केदार पांडेय और शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन के बीच लगभग ढाई घंटे तक बैठक हुई। इसके बाद माध्यमिक शिक्षक संघ की ओर से हड़ताल वापस लेने की घोषणा की गई। इसके बाद प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों ने भी देर शाम हड़ताल खत्म करने की घोषणा कर दी। इसका ऐलान संघ के अध्यक्ष ब्रजनंदन शर्मा द्वारा किया गया। प्राथमिक शिक्षकों की हड़ताल 17 फरवरी से चल रही थी।

शिक्षकों की हड़ताल खत्म करने की घोषणा करते हुए बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष केदार पांडेय ने कहा कि, “सरकार ने हमें आश्वासन दिया है कि कोरोना महामारी के बाद स्थिति सामान्य होने पर हमारी मांगों पर विचार किया जाएगा। शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर और निलंबन जैसी कार्रवाई को वापस ली जाएगी। हड़ताल के दौरान का शिक्षकों को वेतन मिलेगा। अब शिक्षक अपने स्कूलों में योगदान देंगे।”

Related posts

Leave a Comment