कृषि पिटारा वीडियो व्यवसाय पिटारा

काले गेहूं (Black Wheat) की खेती – I

DESK : किसान मित्रों, आलू, टमाटर व चावल के बाद अब काला गेहूं भी आ गया है। तो आज के कृषि पिटारा में चलिये जानते हैं कि काले गेंहू की कुछ विशेषताओं के बारे में। किसान मित्रों, ऐसा बताया जा रहा है कि काला गेहूं भारत में पहली बार आया है। और यह कई औषधीय गुणों से भरपूर है। पिछले वर्ष नवंबर में नेशनल एग्री फूड बायोटेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट, मोहाली द्वारा सात साल की रिसर्च के बाद काले गेहूं का पेटेंट कराया था।

एनएबीआइ ने इस गेंहू को ‘नाबी एमजी’ नाम दिया है। पंजाब और हरियाणा में काले गेहूं की खेती करने वाले किसान बताते हैं कि शुरू में इसकी बालियां भी आम गेहूं जैसी हरी होती हैं, पकने पर दानों का रंग काला हो जाता है।

  • काला गेहूँ क्या है?
  • काले गेहूँ की क्या खासियत है?
  • काला गेहूँ कैसे फायदेमंद है?
  • काले गेहूँ की खेती कैसे शुरू करें? इस वीडियो में आपको ये तमाम जानकारियाँ मिलेंगी।

#BlackWheat#KalaGehun#NABI_MG#NABI#नाबी_एमजी#Agriculture#काला_गेंहू#NewCrop#Farming#NewIdeas#Profit

Related posts

Leave a Comment