कृषि पिटारा मुखिया समाचार

केंद्र सरकार कृषि क्षेत्र के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध है: नरेंद्र सिंह तोमर

नई दिल्ली: केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों के लिए चल रही विभिन्न योजनाओं के बारे में कुछ जानकारियाँ दी हैं। उन्होने केंद्रीय योजनाओं के उचित तरीके से क्रियान्वयन पर जोर देते हुए कहा है कि इनका लाभ प्रामाणिक किसानों तक पहुंचना चाहिए। इन योजनाओं में पैसे की कमी किसी प्रकार की रुकावट नहीं बननी चाहिए। ये बातें नरेंद्र सिंह तोमर ने केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा आयोजित संघ राज्य क्षेत्रों के सम्मेलन में कहीं। इस सम्मेलन के दौरान संघ राज्य क्षेत्रों में कृषि के विकास को लेकर विस्तृत चर्चा की गई।

इस दौरान केंद्रीय कृषि मंत्री ने यह भी कहा कि, “केंद्र सरकार कृषि क्षेत्र के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध है, इसी अनुरूप अनेक ऐसी योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिनके बारे में कभी कल्पना भी नहीं की गई थी। महामारी के दौर में भी किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराया गया है। चालू वित्त वर्ष के लिए 16 लाख करोड़ रुपये के लोन का लक्ष्य तय किया गया है। किसानों को केसीसी के जरिये 14 लाख करोड़ रुपये का लोन पहले ही दिया जा चुका है। सरकार फरवरी 2020 से सभी किसानों को केसीसी के अंतर्गत्त लाने के लिए अभियान चला रही है। विशेष रूप से पीएम किसान के लाभार्थियों पर ध्यान दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री द्वारा पिछले साल फरवरी में प्रारंभ किए गए केसीसी के अभियान के बाद से सालभर में कोरोना के बावजूद राज्यों व बैंकों के सहयोग से 2 करोड़ से ज्यादा किसानों को लगभग 2.5 लाख करोड़ रुपये उपलब्ध हुए हैं।”

पीएम किसान के बारे ने कृषि मंत्री ने कहा कि, “प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना पारदर्शिता व गतिशीलता की अनूठी मिसाल है, जिसके जरिये 11.37 करोड़ किसानों को 1.58 लाख करोड़ रुपये सीधे उनके बैंक खातों में जमा कराए गए हैं।” उन्होने यह भी कहा कि, “कृषि व सम्बद्ध क्षेत्रों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1.5 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा राशि विशेष पैकेजों के रूप में उपलब्ध कराई है, जिसके अंतर्गत्त प्रोजेक्ट प्रस्तुत करते ही कृषि मंत्रालय की टीम बैंकर्स से इन्हें मंजूर कराएगी।”

Related posts

Leave a Comment