कृषि पिटारा

मखाने की सीधी बुवाई से बिहार के किसानों को मिल रहा है बढ़िया मुनाफा

पटना: बिहार में उत्पादित मखाना भारतीय बाजार में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी बहुत तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। मखाना को उत्कृष्ट गुणवत्ता और पोषण से भरपूर माना जाता है। पारंपरिक तरीकों के बाजाय नवीनतम तकनीकों के साथ बुवाई करने से किसानों को मखाना की खेती से अपेक्षाकृत ज़्यादा मुनाफा मिल रहा है।

मखाने की खेती में सीधी बुवाई की विधि: सीधी बुवाई विधि द्वारा मखाने की खेती करने के लिए किसानों को स्वस्थ बीजों की आवश्यकता होती है। इन्हें तालाब में दिसंबर या जनवरी के महीने में हाथों से छिड़कना पड़ता है। इसके बाद बीजों को 35 से 40 दिनों के बाद पानी में बुआई के लिए छोड़ देना चाहिए। बीजों से पौधे निकलने के बाद, फ़रवरी या मार्च में इन्हें पूरी तरह से विकसित होने के लिए 1 मीटर की दूरी पर पौधों को छोड़ना चाहिए।

रोपाई की विधि: सीधी बुवाई तकनीक से मखाने की खेती के लिए स्वस्थ और नए पौधों की रोपाई मार्च से अप्रैल के महीने में की जाती है। इस तकनीक में पौधों के बीच 1.20 मीटर से 1.25 मीटर की दूरी बनाए रखनी चाहिए। मखाने की रोपाई के लगभग दो महीने के बाद चमकीले बैगनी रंग के फूल निकलने शुरू हो जाते हैं इन फूलों के बाद फल का विकास होता है।

मखाने की खेती में बाधाओं को कम करने के लिए सरकार किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान कर रही है ताकि, किसानों की आर्थिक उन्नति के साथ मखाने के रकबे में विस्तारा हो सके। जी हाँ, बिहार में मखाने की खेती बढ़ रही है और सरकार ने इसे सहारा देने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। किसानों को नवीनतम तकनीकों की जानकारी प्रदान करने के लिए विशेषज्ञों द्वारा सलाह दी जा रही है, ताकि वे अपनी खेती को और भी उत्कृष्ट बना सकें।

बता दें कि, बिहार के मिथिला क्षेत्र में उत्पादित मखाना अपनी बेहतरीन गुणवत्ता और योग्यता के लिए मशहूर है। इसे जीआई टैग भी प्रदान किया गया है। साथ ही, इसे ‘मिथिला मखाना’ के नाम से जाना जाता है। मखाना की खेती की दिशा के मामले में इस प्रतिनिधि राज्य के किसानों को इस फसल की खेती से अपनी आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ बनाने का एक नया विकल्प मिला है।

जहां तक मखाने के स्वास्थ्य लाभों की बात है तो इसका सेवन करने से मानव शरीर को कई पोशाक तत्व प्राप्त होते हैं। मसलन – विटामिन और पोटैशियम इत्यादि। इससे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होता है। मखाना आपके लिए सही पोषण सामग्री प्रदान करता है और इसे एक स्वस्थ जीवनशैली का हिस्सा बनाने के लिए शानदार विकल्प बनाता है।

Related posts

Leave a Comment