कृषि पिटारा मुखिया समाचार

जानिए, समय से कृषि ऋण चुकाने के हैं कितने फायदे?

नई दिल्ली: हमारे देश में अधिकांश किसान ऐसे हैं जिनके पास कृषि में लगाने के लिए पूँजी का अभाव है। ऐसे किसान फसल बोने और उसपर आने वाली लागत को वहन करने के लिए जैसे-तैसे पूँजी का जुगाड़ करते हैं। हालाँकि केंद्र सरकार से लेकर विभिन्न राज्य सरकारें किसानों के लिए कई योजनाएँ चला रही हैं। इससे योग्य किसानों को एक बहुत बड़ी आर्थिक राहत मिल रही है। सरकार बैंकों के माध्यम से किसानों को कम ब्याज पर ऋण भी मुहैया करवाती है, जिसका लाभ लेने वाले किसानों की संख्या लगातार बढ़ रही है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यदि लिए गए ऋण को ज़िम्मेदारीपूर्वक चुका दिया जाए तो इसके कई लाभ हैं।

जैसा कि आप सब जानते ही होंगे कि बैंक से आप जो कृषि ऋण लेते हैं। उसे समय पर चुकाना आपका दायित्व है और इस दायित्व का ज़िम्मेदारीपूर्वक पालन करने पर आपको कई प्रकार के लाभ मिलते हैं। जी हाँ, समय से ऋण चुकाने के कई फायदे हैं, जिन्हें हम सबको जानना चाहिए। मसलन –

समय से ऋण चुकाने का पहला लाभ यह है कि इससे आपका क्रेडिट स्कोर बेहतर होता है। किसान मित्रों, अगर आसान भाषा में कहें तो क्रेडिट स्कोर आपको मिलने वाली एक रेटिंग होती है जिससे बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थाओं को आपकी वित्तीय स्थिति और आपकी ऋण चुकाने की प्रकृति का पता चलता है। ऐसे में, अब यह कहने की ज़रूरत नहीं है कि आपके लिए अच्छे क्रेडिट स्कोर के क्या मायने हैं। इसे निरंतर बेहतर बनाने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने ऋण के ब्याज अथवा किस्तों को पूरी ज़िम्मेदारी के साथ अदा करें।

समय पर ऋण या ब्याज चुकाने का दूसरा लाभ यह है कि आपको अगली बार और अधिक ऋण मिलने की संभावना बढ़ जाती है। क्योंकि बैंक और वित्तीय संस्थान ऋण भुगतान के प्रति आपकी ज़िम्मेदारी से परिचित होते हैं।

समय पर ऋण भुगतान का तीसरा और एक महत्वपूर्ण लाभ यह है कि आपको भविष्य में कम ब्याज दर पर ऋण मिलने की संभावना बढ़ जाती है। इससे न केवल आपको कृषिगत कार्यों में नए-नए प्रयोग करने की प्रेरणा मिलती है बल्कि आपकी आर्थिक स्थिति भी निरंतर सुधरने लगती है।

इसके अलावा, समय से ऋण चुकाने पर आपको कई बार वर्तमान ऋण के ब्याज दर में भी छूट प्राप्त होती है। उदाहरण के तौर पर यदि आपने किसान क्रेडिट कार्ड के जरिये कोई ऋण लिया है और उसे समय पर चुकाते हैं तो आपको ब्याज में छूट की सुविधा दी जाती है।

Related posts

Leave a Comment