कृषि पिटारा सक्सेस पिटारा

केडिया गांव बदलाव की एक सफल कहानी

पटना: जैविक कृषि क्रांति की पहल करने वाला केडिया गांव अब किसी परिचय का मोहताज नहीं रह गया है, बिहार के जमुई जिले के बरहट थाना अंतर्गत केडिया गांव पूरे देश को जैविक खेती की राह दिखा रहा है।

केडिया गांव में 110 परिवार हैं. गांव की आबादी करीब 600 है और वर्तमान में केड़िया गांव में 250 से ज्यादा वर्मीबेड इकाइयां काम कर रही हैं। इस गांव के लोगों ने धीरे-धीरे जैविक खाद की मदद से सब्जी सहित अन्य फसल उगाना शुरू किया। पूरे गांव के लोगों ने आपसी सहमति से यह तय कर लिया कि अब जहर मुक्त खेती करेंगे और कृषि कार्य में किसी भी प्रकार के रसायन का इस्तेमाल नहीं करेंगे।

केड़िया में कुल 22 बायोगैस संयंत्र हैं. उन्होंने बताया कि जैविक खेती करने के साथ मनरेगा योजना के तहत केडिया गांव के किसानों ने मवेशी पालने के लिए शेड भी बनवाए हैं जिसमें गौमूत्र आदि एकत्रित करते हैं।

Related posts

Leave a Comment