कृषि पिटारा छोटका पत्रकार मुखिया समाचार

किसानों की सहूलियत के लिए योगी आदित्यनाथ ने दिये कुछ और दिशा-निर्देश

लखनऊ: फसल की कटाई के काम में लगे किसानों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुछ और दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इससे किसानों को काफी फायदा होगा। विशेष कर फसल की कटाई के लिए उपयोग में लाई जाने वाली मशीनों व वाहनों के आवागमन में। जैसा कि, कृषि से जुड़ी विभिन्न गतिविधियों को लॉकडाउन के दायरे से बाहर रखा गया है। इसके बावजूद भी कई बार लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मगर अब मुख्यमंत्री के निर्देश से यह स्पष्ट हो गया है कि फसल की कटाई के लिए मशीनों के आवागमन में प्रशासन की ओर से कोई असुविधा नहीं होगी।

अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि, “कृषि विभाग जिलाधिकरियों के माध्यम से किसानों की फसल कटाई के काम में पूरी मदद कर रहा है ताकि किसानों को अपनी उपज मंडियों में लाने में कोई दिक्कत ना हो। मुख्यमंत्री ने फसलों की खरीद के लिए मंडी की व्यवस्था को और भी सुचारू रखने के लिए कहा है। साथ ही यह निर्देश दिया है कि किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य अवश्य मिले।”

आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने सोमवार को पूरे देश के लिये कॉल सेंटर की शुरूआत की है। इससे राज्यों के बीच सभी प्रकार के कृषि जिंसों के परिवहन की समस्याओं का समाधान किया जा सकेगा। इन जिंसों में जल्दी खराब होने वाले सामान भी शामिल हैं। कृषि मंत्रालय के बयान के अनुसार आखिल भारतीय कृषि परिवहन कॉल सेंटर से 18001804200 और 14488 के जरिये संपर्क किया जा सकता है। इन नंबरों पर किसी भी मोबाइल या लैंडलाइन फोन से संपर्क किया जा सकता है। इससे ट्रक चालकों, व्यापारियों, खुदरा कारोबारियों, ट्रांसपोर्टर या अन्य किसी भी पक्ष को कृषि सामान अगर एक राज्य से दूसरे राज्य में ले जाने के दौरान कोई समस्या होती है, तो वे कॉल सेंटर से संपर्क कर सकते हैं। उनकी शीघ्र मदद की जाएगी।

Related posts

Leave a Comment