कृषि पिटारा मुखिया समाचार

क्या है मत्स्य सेतु मोबाइल ऐप? विस्तार से जानिए

नई दिल्ली: मछली पालन के व्यवसाय से जुड़े लोगों के लिए सरकार ने एक महत्वपूर्ण पहल की है। दरअसल, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् – केंद्रीय मीठाजल जीवपालन अनुसंधान संस्थान, भुवनेश्वर द्वारा हैदराबाद स्थित राष्ट्रीय मत्स्य विकास बोर्ड की सहायता से एक ऐप विकसित किया गया है। यह ऐप मछली पालकों के लिए काफी उपयोगी साबित होने वाला है। इस ऐप का नाम है – मत्स्य सेतु। यह एक ऑनलाइन पाठ्यक्रम ऐप है। इससे मछली पालन के व्यवसाय से जुड़े लोगों के लिए कई प्रकार से उपयोगी साबित होगा।

मत्स्य सेतु मोबाइल ऐप के माध्यम से किसानों को स्वच्छ जल में मछली पालन के तौर तरीकों को लेकर आधुनिक जानकारी मिलेगी। इस ऑनलाइन पाठ्यक्रम ऐप का उद्देश्य देश के मछली पालकों के लिए नवीनतम स्वच्छ जल कृषि प्रौद्योगिकियों का प्रसार करना है। मत्स्य सेतु ऐप में विषयवार खुद से पढ़ने योग्य ऑनलाइन पाठ्य सामग्रियां उपलब्ध हैं। इनमें व्यावसायिक रूप से महत्वपूर्ण मछलियों के प्रजनन, बीज उत्पादन और पालन-पोषण संवर्द्धन पर बुनियादी अवधारणाओं और व्यावहारिक प्रदर्शनों की भी व्याख्या की गई है।

मत्स्य सेतु ऐप में शिक्षार्थियों को प्रेरित करने और सीखने का एक जीवंत अनुभव प्रदान करने तथा स्व-मूल्यांकन के लिए भी विकल्प प्रदान किए गए हैं। इसके जरिये प्रत्येक पाठ्यक्रम के समापन पर एक ई-प्रमाण पत्र स्वतः उत्पन्न किया जा सकता है। किसान इस ऐप के माध्यम से अपने सवालों को पूछ सकते हैं और विशेषज्ञों से सलाह भी ले सकते है।

आपको बता दें कि सितंबर 2020 में प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की शुरुआत की गई थी। इसके तहत अतिरिक्त 70 लाख टन मत्स्य उत्पादन, एक लाख करोड़ रुपये मत्स्य निर्यात और अगले पांच वर्षों में 55 लाख रोजगार सृजन जैसे महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किए गए थे। लेकिन इन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सरकार और हितधारकों के बीच सहयोग और ठोस प्रयासों की आवश्यकता है।

Related posts

Leave a Comment