कृषि पिटारा मुखिया समाचार

मछली पालन को केंद्र सरकार ऐसे कर रही है प्रोत्साहित

नई दिल्ली: मछली पालन आज के समय में एक प्रतिष्ठित व्यवसाय के रूप में स्थापित हो चुका है। इस क्षेत्र में अब लगातार नयी-नयी तकनीकों का सहारा लिया जा रहा है। इस वजह से मछली पालन के क्षेत्र में रोजगार के कई अवसर उत्पन्न हो रहे हैं।

यदि आप बतौर व्यवसाय मछली पालन की शुरुआत करना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे महत्वपूर्ण है – तालाब की तैयारी। तालाब तैयार करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद ही ज़रूरी है। बेहतर होगा कि आप तालाब का निर्माण पानी का स्त्रोत के समीप करें, ताकि जरूरत पड़ने पर उसे आसानी से भरा जा सके। तालाब कि गहराई ऐसी रखें कि उसमें कम से कम 5 से 6 फुट तक पानी आराम से भरा जा सके। तालाब में यदि जलीय पौधे और खरपतवार इकट्ठा हों तो उनकी सफाई अच्छे से करें। क्योंकि ये पानी में मौजूद पोषक तत्वों को कम कर देते हैं। जलीय पौधों से रहित दोमट मिट्टी वाला तालाब मछली पालन के लिए बेहतर होता है।

तालाब तैयार होने के बाद जल में खरपतवार नाशक दवा 2-4 डी का इस्तेमाल करें। इसके बाद पानी में बारीक जाल डालकर मांसाहारी तथा मिनोज मछलियों को निकाल दें। ये मछलियां पाली जाने वाली मछलियों को खा जाती हैं। फिर चूने का छिड़काव करें।

बेहतर होगा कि आप ‘रिसर्कुलर एक्वाकल्चर सिस्टम’ (आरएएस) से मछली पालन करें। इस विधि के तहत तालाब में पानी का बहाव बना रहता है। इसमें कम जगह और कम पानी की आवश्यकता होती है। अब अगर आरएएस तकनीक से मछली पालन करने पर आने वाली लागत की बात करें तो आपको सिर्फ 5 लाख रुपए का इंतजाम करना होगा। इस राशि से आप लगभग 20 हजार किलोग्राम वजन की मछलियां पाल सकते हैं। नेशनल फिशरी डेवलपमेंट बोर्ड द्वारा तैयार की गई प्रोजेक्टक रिपोर्ट के अनुसार अगर आप 20 हजार किग्रा क्षमता वाले तालाब बनाते हैं तो इसमे आपको लगभग 20 लाख रुपए खर्च होंगे।

किसान मित्रों, केंद्र सरकार मछली पालन को प्रोत्साहित कर रही है। विभिन्न राज्य सरकारों के साथ मिलकर केंद्र सरकार योजना चला रही है, जिसके तहत आपको सरकार से लगभग 75 प्रतिशत तक आर्थिक सहायता प्राप्त हो सकती है। 20 लाख रुपए में से आपको मात्र 5 लाख रुपए का इंतजाम करना होगा। बाकी 7 लाख 50 हजार रुपए केंद्र सरकार और 3 लाख 75 हजार रुपए राज्य सरकार द्वारा सब्सिडी के तौर पर दिया जाएगा। इसके अलावा सरकार की ओर से आपको 3 लाख 75 हजार रुपए का बैंक लोन भी दिलाया जाएगा।

Related posts

Leave a Comment