कृषि पिटारा वीडियो व्यवसाय पिटारा

सहजन (Moringa) की खेती के फायदे – II

किसान मित्रों, मोरिंगा या सहजन की खेती अनुकूल परिस्थितियों में काफी आसान है। यह गर्म इलाकों में आसानी से उत्पादन देना शुरू कर देता है। सहजन को फलने-फूलने में ज़्यादा पानी की भी आवश्यकता नहीं होती है। सबसे अच्छी बात ये है कि अगर आप समर्पित रूप से सहजन की खेती नहीं करना चाहते हैं तो भी आप अपनी सामान्य फसल के साथ भी इसकी खेती कर सकते हैं। सर्द इलाकों में इसकी खेती बहुत मुनाफे वाली नहीं है, क्योंकि इस पौधे में फूल आने के लिए 25 से 30 डिग्री सेल्सियस तापमान की जरूरत होती है।

यह पौधा सूखी बलुई या चिकनी मिट्टी में अच्छी तरह से विकास करता है। साल में दो बार इस पौधे से उत्पादन लिया जा सकता है। आमतौर पर एक पेड़ आठ से दस साल तक आपको उत्पादन दे सकता है। अगर बात करें आमदनी की तो सहजन की खेती लगाने के 10 महीने बाद एक एकड़ से किसान को एक लाख रुपए तक का मुनाफा दे सकती है।

Related posts

Leave a Comment