कृषि पिटारा मुखिया समाचार

पीएम किसान सम्मान निधि योजना: 46 लाख से अधिक किसानों की छठी किस्त रुकी, ऐसे करें समस्या का समाधान

नई दिल्ली: केंद्र सरकार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की छठी किस्त किसानों के खातों में भेज रही है, लेकिन इस दौरान 46,13,797 किसानों का भुगतान असफल हो गया है। यहाँ तक कि इन किसानों के लिए फंड ट्रांसफर ऑर्डर भी जनरेट हो चुका था। अगर इस समस्या की वजह की बात करें तो कई किसान अपना आवेदन देते समय कुछ छोटी-मोटी गलतियाँ कर देते हैं। मसलन – आवेदन में दर्ज हुआ उनका नाम आधार कार्ड या उनके बैंक में दर्ज नाम के अनुरूप नहीं होता है। अक्सर कई किसान अपना आधार नंबर सही नहीं देते हैं या फिर बैंक का आईएफएससी कोड ही गलत दर्ज कर देते हैं। किस्त न मिलने की एक वजह यह भी हो सकती है कि नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया में आधार सीडिंग नहीं हुई हो।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के 20 महीने पूरे हो चुके हैं। फिर भी इतनी संख्या में किसान योजना की किस्त पाने में असफल रहे हैं। केंद्रीय कृषि मंत्रालय के हवाले से मिली जानकारी की मानें तो आवेदनकर्ताओं के नाम, मोबाइल नंबर और बैंक खाते में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी देखने को मिल रही है। इसमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के मामले हैं।

अगर किसी गलत सूचना की वजह से पीएम किसान की आपकी भी किस्त रुकी हुई है तो आप इस गलती को सुधार सकते हैं। इसके लिए आपको कहीं जाने की आवश्यकता नहीं है। यह काम आप घर बैठे अपने मोबाइल के जरिये भी कर सकते हैं। इसके लिए आपको सबसे पहले पीएम किसान ऐप डाउनलोड करना होगा। पीएम किसान ऐप के जरिये किसी भूल को सुधारना काफी आसान है। आप चाहें तो यह काम पीएम किसान की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाकर भी कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले ‘Farmer Corner’ के विकल्प पर क्लिक करें फिर ‘Edit Aadhaar Details’ का विकल्प चुनें। यहाँ पर आप अपना आधार नंबर दर्ज करें। इसके बाद कैप्चा कोड डालकर सबमिट कर दें। यदि आपका केवल नाम गलत है तो आप इसे ऑनलाइन ही ठीक कर सकते हैं। यदि इसके अलावा कोई और गलती है तो इसे सुधारने के लिए आप अपने लेखपाल और कृषि विभाग कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं।

यदि इतना कुछ करने के बाद भी आपकी समस्या का समाधान नहीं होता है तो आप केंद्रीय कृषि मंत्रालय की ओर से जारी हेल्पलाइन नंबर 155261 या 1800115526 पर भी संपर्क कर सकते हैं। इनपर कॉल करना पूरी तरह से शुल्कमुक्त है।

Related posts

Leave a Comment