छोटका पत्रकार मुखिया समाचार

सघन मिशन इंद्रधनुष योजना के तहत 2020 के अंत तक हासिल होगा सम्पूर्ण टीकाकरण का लक्ष्य

यदि टीके से किसी रोग का इलाज संभव है तो किसी भी बच्चे को टीके का अभाव नहीं होना चाहिए – इसी उद्देश्य से प्रेरित हो कर केंद्र सरकार ने सघन मिशन इंद्रधनुष योजना की शुरुआत की है।

इस कार्यक्रम के जरिए सरकार ने दो वर्ष की आयु के प्रत्येक बच्चे और उन गर्भवती माताओं तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया है, जो टीकाकरण कार्यक्रम के अंतर्गत यह सुविधा नहीं पा सके हैं।

सघन मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम के अंतर्गत 2020 तक पूर्ण टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। इसके तहत 90 प्रतिशत क्षेत्रों को शामिल किया जाना है। सघन मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम के जरिये लोगों से मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को रोकने के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रम में सहयोग की अपील की जा रही है।

यह कार्यक्रम ऐसे चुनिंदा जिलों और शहरी क्षेत्रों में चलाया जा रहा है जहाँ टीकाकरण कम हुआ है। इन क्षेत्रों की पहचान विभिन्न संगठनों से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर की जा रही है। ऐसे क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है जहाँ टीकाकरण या तो नहीं हुआ या उसका प्रतिशत बहुत कम है।

सघन मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम की एक खास बात यह भी है कि इस योजना को 11 अन्य मंत्रालय और विभाग भी अपना समर्थन प्रदान कर रहे हैं। जैसे – महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, पंचायती राज, शहरी विकास, युवा कार्य एवं अन्य मंत्रालय आदि। आशा, आंगनबाड़ी वर्कर, राष्ट्रीय शहरी जीविका मिशन के अंतर्गत जिला प्रेरक और स्वयंसेवी संगठन भी इस कार्यक्रम के प्रभावी कार्यान्वयन में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

यही नहीं, जिला, राज्य और केंद्रीय स्तर पर नियमित अंतराल के दौरान सघन मिशन इंद्रधनुष की कड़ी निगरानी की जा रही है। आपको बता दें कि सघन मिशन इंद्रधनुष कार्यक्रम के तहत 90 प्रतिशत से अधिक का लक्ष्य हासिल करने वाले जिलों को पुरस्कृत भी किया जाएगा।

Related posts

Leave a Comment