कृषि पिटारा

उत्तर प्रदेश सरकार के इस फैसले से गन्ना किसानों को होगा बड़ा फायदा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने गन्ना किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए अतिरिक्त सट्टा प्रदान करने का फैसला लिया है। प्रदेश सरकार ने चीनी मिलों के गन्ने के निर्धारित सट्टे से अधिक उत्पादन की मांग को ध्यान में रखते हुए सभी चीनी मिलों में 1424 लाख क्विंटल अतिरिक्त सट्टे की सुविधा को ऑनलाइन प्रदान किया है। सरकार के इस कदम से गन्ना किसानों को अतिरिक्त लाभ प्राप्त हो रहा है।

इस सुविधा के तहत, गन्ना किसान सट्टे की मात्रा में ऑनलाइन पर्ची को बदल सकते हैं और इसका लाभ प्राप्त कर सकते हैं। गन्ना विभाग और चीनी मिलों के बीच किसानों के हित में कोई प्रशासनिक शुल्क नहीं लिया जाएगा, जिससे किसानों को अतिरिक्त लाभ होगा।

इस पहल से गन्ना किसानों को अपने उत्पादन की आपूर्ति में परेशानी नहीं होगी, क्योंकि गन्ना विकास विभाग ने 1424 लाख क्विंटल अतिरिक्त सट्टे को किसानों के निर्धारित गन्ना आवश्यकता के अनुरूप बना दिया है। इसके अलावा, किसानों को अतिरिक्त सट्टे का लाभ 7वें पक्ष से भी दिया जा रहा है। यदि गन्ने की आपूर्ति से कम हो, तो किसानों को आवश्यकता के अनुसार यह सुनिश्चित किया जाएगा कि उन्हें यथासम्भव लाभ प्रदान किया जाए।

इस नए पहल से, छोटे गन्ना किसान अपने गन्ने को समय पर चीनी मिलों को आपूर्ति कर सकेंगे और उन्हें अधिक सुविधा मिलेगी। इसके अलावा, ड्रिप इरीगेशन के माध्यम से सिंचाई करने वाले किसानों को अतिरिक्त सट्टे में प्राथमिकता दी जाएगी। इस प्रयास से गन्ना किसानों को उनके उत्पादन की आपूर्ति के लिए एक क्लिक पर सुविधा मिल रही है और इससे पर्ची की समस्या से निपटने में मदद मिल रही है। यह एक और कदम है जिससे उत्तर प्रदेश सरकार किसानों के हित में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए प्रतिबद्ध है।

Related posts

Leave a Comment